Flash Sale! to get a free eCookbook with our top 25 recipes.

अकेले यात्रा करना भी है काफ़ी मज़ेदार

Solo_Travel

यात्रा करना कितना मज़ेदार होता है, है ना? अपने सामान को पैक करना, नए कपड़ों को ख़रीदना, गैजेट्स को चार्ज करना, मेमोरी कार्ड को ख़ाली करना और ऐसी करोड़ों तैयारियां जो इसके लिए की जाती हैं वास्तव में काफ़ी उत्साहवर्धक होती हैं।किसको ये सारी चीज़ें पसंद नहीं हैं? लेकिन कभी कभी यात्रा के कुछ  निराशाजनक पहलू भी हमें दिखाई देते हैं ख़ासकर के तब जब आप छुट्टियां मनाने अपने साथियों के साथ जा रहे होते हैं।


जानी पहचानी कहानी

ज़रा सोचिए आपने अपने ट्रिप के लिए अपना और अपने साथी का टिकट बुक करा लिया है। आप काफ़ी उत्साह में हैं, आपने दोनों लोगों के लिए काफ़ी योजनाएं बना ली हैं, क्या देखना है, क्या खाना है, क्या पहनना है सब कुछ! इतना सब होने के बाद आपका साथी ट्रिप का प्लान कैंसिल कर देता है। वह कहता है कि मुझे अफ़सोस है लेकिन मेरे काम के दौरान कुछ चीज़ें आ गई हैं जिनकी वजह से मैं यात्रा नहीं कर सकता हूँ। मेरा मतलब है कि महीनों लग गए एक यात्रा को प्लान करने में और अब आपके साथी ने वो कैंसिल कर दिया।

इस तरह का सेनेरियो आपको मुश्किल सिचुएशन में डाल देता है। धीरे धीरे आप ख़ुद  से ही बहस करने लग जाते हैं कि आपको भी ये प्लान कैंसिल कर देना चाहिए।


वहाँ जाना है, बस जाना है

मुझे पूरा यक़ीन है कि हमने अक्सर ख़ुद से इस सवाल को अवश्य पूछा है-क्या मुझे अपनी यात्रा का प्लान कैंसिल कर देना चाहिए क्योंकि एक्स वाई ज़ेड नहीं आ रहे हैं? हम सभी अपनी फ़्लाइट, बस और ट्रेन के टिकट को कैंसिल करा देते हैं क्योंकि हमारे कुछ साथियों ने काम को तरजीह देते हुए यात्रा के ज़बर्दस्त प्लान को अनदेखा कर दिया होता है।

अगली बार जब हम अपने साथी की वजह से अपने यात्रा के प्लान को कैंसिल करने के बारे में सोचें तो हमें ख़ुद से एक महत्वपूर्ण सवाल करना चाहिए- क्यों? क्यों मुझे अपने यात्रा के प्लान को सिर्फ़ इस वजह से कैंसिल कर देना चाहिए क्योंकि दूसरे लोगों ने अपने यात्रा के प्लान को कैंसिल कर दिया है? क्या मुझे सिर्फ़ इस वजह से यात्रा पर नहीं जाना चाहिए कि मैं अकेला हूं।


अकेले यात्रा करने में है और भी मज़ा

ये सच है कि अकेले यात्रा करना थोड़ा डरावना लगता है। आपको नहीं पता होता है कि यात्रा के दौरान आप किन लोगों से मिलेंगे, विदेशी सरज़मीं पर अपनी सुरक्षा के आप ख़ुद ही ज़िम्मेदार होते हैं, आपको वहाँ की भाषा बोलने में कठिनाई आ सकती है, और हो सकता है कि आप ख़ुद को ऐसी स्थिति में महसूस करें जिसमें आप ख़ुद को असहाय पाएँ। लेकिन क्या आप अपने रोमांचकारी सपनों को हक़ीक़त में बदलने के लिए इन छोटे छोटे खतरों (जो कि हो सकता है कि आपकी यात्रा योजनाबद्ध होने के कारण आपके सामने आएँ ही ना!) से लड़ना पसंद नहीं करेंगे।


आज़ादी और स्वतंत्रता

दूसरों को कोई भी परेशानी हो मैं तो वही करूँगा जो में चाहता हूँ।

अकेले छुट्टियों पर जाने का सबसे बड़ा फ़ायदा यह होता है कि आप कहीं पर भी जाने का प्लान बनाने में स्वतंत्र, किसी भी काम को किसी भी ढंग से करने के लिए पूरी तरह से आज़ाद होते हैं। ज़रा सोचिए कि आप अपने साथियों के एक ऐसे ग्रुप के साथ हैं जो सिर्फ़ पार्टी और मज़े करना चाहते हैं जबकि आप वहाँ की स्थानीय इमारतों को देखना और वहाँ के स्थानीय जीवन को अनुभव करना चाहते हैं।अकेले यात्रा पर जाकर आपको बिना किसी रुकावट के इन सारी चीज़ों को करने की आज़ादी मिल सकती है।


अकेले यात्रा के लिए दिशा की समझ

जिनको दिशा की समझ का ज्ञान (मेरी तरह) नहीं है, ये उनके लिए है!

अकेले यात्रा करना काफ़ी लाजवाब होता है क्योंकि आप अपने आस पास के वातावरण के विषय में और ज़्यादा जागरूक होते हैं। आप इस बात को लेकर पूरी तरह से सजग होते हैं कि आप कहाँ पर हैं क्योंकि आप ख़ुद को इस बात का आश्वासन देना चाहते हैं कि आप खोए नहीं हैं। आप लगातार ये जानने में लगे रहते हैं कि आपकी स्थिति क्या है ताकि आप भटकने ना पाएँ।


यात्रा के लिए कंफर्ट ज़ोन को कहें अलविदा

जब आप अकेले यात्रा पर जाते हैं तो आपको वह चीज़ें भी करनी पड़ती हैं जो आपने पहले कभी ख़ुद से नहीं की होती हैं।उदाहरण के तौर पर आपको अकेले खाना खाना पड़ सकता है, टैक्सी में अकेले जाना पड़ सकता है या फिर लोकल बस में अकेले यात्रा करनी पड़ सकती है। हो सकता है कि आपने इन सब कारणों की वजह से कभी घर से अकेले जाने के बारे में ना सोचा हो लेकिन अकेले यात्रा करने पर आपको अपने कंफर्ट ज़ोन को अलविदा कहना होगा ताकि आप नई चीज़ों का अनुभव कर सकें।


अकेले यात्रा करके आप ख़ुद के बारे में और ज़्यादा जान सकेंगे

अकेले यात्रा के दौरान आप ख़ुद के बारे में और ज़्यादा जान सकते हैं। आप ये जान सकेगें कि आपको क्या पसंद है और क्या नहीं और आप ये भी जान सकेगें कि आपके अंदर अकेले यात्रा करने की क्षमता पहले से ही विद्यमान् थी जिसको सिर्फ़ थोड़े से धक्के की आवश्यकता थी। अकेले की गयी यात्रा आपको आपके जीवन का जायज़ा लेने और, कौन सी चीज़ें आपने पा ली हैं और कौन सी पाना बाक़ी हैं इन चीज़ों को समझने का पर्याप्त समय देती है।

तो, अगली बार जब आप किसी दूसरे की वजह से अपनी यात्रा का प्लान कैंसिल करने का सोचें तो ऐसा ना करें। यात्रा पर जाएं और इसे ख़ूब यादगार बनाएँ और ऐसा ही बिना किसी डर के भविष्य में भी करते रहें।

पढ़ें इस लेख को अंग्रेज़ी में भी, यहाँ क्लिक करें।