Flash Sale! to get a free eCookbook with our top 25 recipes.

अमेज़न के जंगल में भीषण आग के कारण और इसके प्रभाव ।

अमेज़न-के-जंगल

जब तक पेड़ है, पौधे है। तब तक में हूँ, तुम हो, हम हैं॥


ब्राज़ीली अंतरिक्ष अनुसन्धान केंद्र की माने तो ब्राज़ील के जंगलो में इस साल अब तक ८०,००० से अधिक आग की घटनाएं सामने आई है। ना ही सिर्फ यह उन् जंगलों में रह रहे पशु-पक्षियों के लिए एक खतरे की बात है, हर मनुष्य के लिए भी है। विशेषज्ञों की मने तो यह आग पर्यावरण को बहुत अधिक प्रदूषित कर सकती है। अमेज़न को ”लंग्स ऑफ़ दी प्लेनेट” याने ”दुनियां क फेफड़े” कहा गया है। दुनिया भर की २०% ऑक्सीजन यहीं से आती है। दुनिया भर के लोग इस भीषण आग की घटना के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे है। सोशल मीडिया पर इन दिनों कैंपेन #prayfortheamazon भी चल रहा है। आइये ऐसे में अमेज़न रेनफॉरेस्ट को और करीब से जानने की कोशिश करते है।


कहाँ है अमेज़न रेन फॉरेस्ट?

अमेज़न दक्षिण अमेरिकन महाद्वीप में स्थित है। अमेज़न कई अलग अलग देशो में फैला हुआ है- ब्राज़ील (६०%), पेरू (१३%), कोलंबिया (१०%) । कुछ भाग वेनेज़ुएला, इक्वेडोर, बोलीविया, गुयाना, सूरीनाम एंड फ्रांस (फ्रेंच गयाना) में भी है। अमेज़न को वर्षा वनों का राजा कहा गया है। अमेज़न नाम ग्रीक पुराणों से आता है क्यूंकि कहा जाता है की यहाँ महिला योद्धा द्वारा कई युद्ध लड़े गए थे। अमेज़न शब्द अर्थ इन पुराणों में है – महिला योद्धा। 


अमेज़न के बारे में कुछ रोचक बातें 

अमेज़न रेनफॉरेस्ट में बहने वाली अमेज़न नदी दुनिया की सबसे बड़ी नदी है {ध्यान रखे कि दुनिया कि सबसे लम्बी नदी अफ्रीकन महाद्वीप कि नील नदी है, अमेज़न नदी सबसे बड़ी नदी है जब पानी के आयतन (वॉल्यूम) की बात की जाए}।

– अमेज़न में दुनिया के एक तिहाई जीव पाए जाते है।

– यह जंगल करीब ५५० करोड़ साल पहले अस्तित्व में आया।

– अमेज़न में ४०० अरब से भी ज्यादा वृक्ष है और १७,००० से भी अधिक विविध प्रजातियां पाई जाती है।

– यहाँ ४०० से आधीक आदम जनजातियां रहती है, जिनका बाहरी दुनिया से कोई तलूक नहीं है।

– माज़ों का जंगल इतना घना है की कुछ भागो में तो ज़मीन तक सूरज की किरणे भी नहीं पहुँचती, कहते है इन्ही सूरज की किरणों के प्राप्ति की लड़ाई में यहाँ के वृक्ष इतने लम्बे हो जाते है।

– पैंथर ओंका तेंदुए की एक प्रजाति है जो केवल अमेज़न वर्षावन में पाई जाती है। यह भारतीय तेंदुए से ज्यादा तेज़ और शक्तिशाली होते है।


अमेज़न में आग कैसे लगी?

जंगलों में छोटी आगों की घटना, प्रकृति के द्वारा स्वयं की जाती है, जो कुछ हद तक पर्यावरण को लाभ देती है। परन्तु जो आग अमेज़न में लगी, वह प्रकृति के अनुसार नहीं थी। कुछ प्रदर्शनकारियों की माने तो इस आग के लिए ब्राज़ील के राष्ट्रपति जैर बोल्सोनारो को जिम्मेदार मानना चाहिए। राष्ट्रपति बोल्सोनारो हाल ही में चुन कर आये है।

सत्ता संभालने क बाद ब्राज़ील की डूब रही अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए, उन्होंने अमेज़न को ले कर ब्राज़ील के नागरिको को कुछ छूट दी। ताकि ब्राज़ीली नागरिक अमेज़न से मिल रहे संसाधनों की सहयता से अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत कर सके। 

इन सब कारणों से व्यापारियों ने वन में कई पेड़ काट दिए। किसानो ने बड़े बड़े हिस्सों में आग लगाई ताकि जंगल साफ़ होने क बाद वह उस ज़मीन को खेती क लिए इस्तेमाल कर सके। ऐसे में छोटी आग भी फैलने लगी और मामला आज क समय में बेहद गंभीर हो चूका है। राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने इन बातों से साफ़ इंकार किया है।


हम क्या कर सकते है?

स्वाभाविक है हम अमेज़न जा कर उस भीषण आग को बुझा नहीं सकते। पर क्या हम कुछ भी नहीं कर सकते? ऐसा नहीं है। अपनी तरफ से कोशिश करे इन बातो पर अमल करने की –


– कागज़ और लकड़ी बर्बाद ना करें, कम से कम इस्तेमाल करें



– पानी का दुरुपयोग ना करें



– जितने हो सके, उतने पेड़ लगाए 



– वर्षा जल को संरक्षित करें



– जितना हो सके प्लास्टिक और पॉलिथीन का उपयोग उतना कम करें



– बाजार जाते वक़्त अपने साथ खुदका कपड़े या जूट का ठेला रखे, दुकानदार से पॉलिथीन ना मांगे


अनुप्रिया मिश्रा

अनुप्रिया मिश्रा, वो नाम जो हज़ारों की भीड़ में खोना नहीं बल्कि उस भीड़ का एक हिस्सा बनकर खुद की काबिलियत को निखारना चाहता है। राजनीति विज्ञान में स्नातक की डिग्री प्राप्त अनुप्रिया हमारी वेबसाइट से जुड़कर अपनी रचनात्मकता और बेहतरीन लेखनी को पाठकों के सामने लाने और एक उम्दा युवा ब्लाॅगर के रूप में अपनी पहचान कायम करने की क्षमता रखती हैं। ज़िंदगी, लोगों और इस दुनिया को बेहद मानवीय, प्रेमपूर्ण एवं अपने विशेष नज़रिए से देखने की इनकी सलाहियत ही इनकी लेखनी को सृजनात्मक एवं पाठक सुलभ बनाती है।