Flash Sale! to get a free eCookbook with our top 25 recipes.

एहसान मानिए कि आपने कभी हार नहीं मानी – Scoutripper

मैं अक्सर सोचता हूँ, वो जीवन कैसा होगा जब सारी चीज़ें मेरी इच्छानुसार काम करेंगी, ये कितना ज़बर्दस्त होगा जब मेरे पास असीमित सफलता, खुशियाँ और प्यार होगा? क्या तब जीवन वास्तव में लाजवाब नहीं होगा? मैंने अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा उन चीज़ों के बारे में सोचने में लगाया जो मेरे पास कभी थी ही नहीं और उन चीज़ों के बारे में जो दूसरों ने की थी।
 

 

इसी तरह से कई सालों तक सोचते रहने के बाद, मैंने जल्द ही ये एहसास करना शुरू किया कि मैं अपनी ज़िंदगी में ख़ुश क्यों नहीं था। ऐसा इसलिए था क्योंकि जो चीज़ें मेरे पास थीं और जो मेरे पास हैं उनके लिए मैंने कभी आभार व्यक्त नहीं किया।

 


 

जलन होना स्वाभाविक है

दूसरों से जलन महसूस करना बेहद स्वाभाविक होता है। लेकिन कई बार हम ख़ुद की तुलना और जो चीज़ें हमारे पास है उन सब की तुलना दूसरों के साथ करने लगते हैं। हमें ऐसा महसूस होता है कि हमें कभी भी पर्याप्त खुशियां नसीब नहीं हो पाएंगी। लेकिन आख़िर में जो बात हम भूल जाते हैं वो ये होती है कि वास्तव में ज़िंदगी में हमारे पास दूसरों की तुलना में काफ़ी चीज़ें मौजूद होती हैं। बजाय इसके कि हम अपनी ज़िंदगी में आए अच्छे समय को भरपूर तरीक़े से जिएं, हम उन चीज़ों को सुधारने में लगे रहते हैं जो हमें दुख पहुँचाती हैं और मेरे दोस्तों ये एक ऐसी चीज़ है जिसका ख़त्म होना ज़रूरी है।
 

 
कृतज्ञ रहना ज़िंदगी का एक आवश्यक हिस्सा होना चाहिए। ये हमें उन सभी चीज़ों के बारे में एहसास दिलाता है जिन्हें हमने अपनी ज़िंदगी में इस बिंदु पर आने से पहले देखा होता है। ये हमारी कहानी में हमारी मदद करता है, चाहे बुरी चीज़ हो या फिर अच्छी चीज़, ये हमें उन पर गर्व करना सिखाता है।अगर आप इस बारे में सोचते हैं तो हमारी ज़िंदगी में ऐसी बहुत सी चीज़ें हैं जो क़ाबिले तारीफ़ हैं।
 


 

परिवार और दोस्तों के प्रति कृतज्ञता दिखाएँ

अभी इस समय के लिए, आप इस दुनिया में रहते हैं इस बात से अपनी कृतज्ञता दिखाना शुरू करें। इस बात से ख़ुश हो जाएँ कि आप किसी और वक़्त में पैदा नहीं हुए उस वक़्त में जबकि युद्ध हो रहा था। ख़ुश हो जाएं कि आप ज़िंदा हैं। अपने परिवार और दोस्तों के प्रति कृतज्ञता दिखाएं, भले ही आपकी उनसे खटपट क्यों न होती हो। ये वो लोग होते हैं जिनके पास आप उस वक़्त दौड़कर वापस जा सकते हैं जब आप किसी मुश्किल वक़्त का सामना कर रहें होते हैं।
 

कृतज्ञ रहे हैं कि आपके घमंडी, ग़ुस्सैल, बिगड़ा हुआ और अच्छा होने के बावजूद आपके दोस्त और परिवार वाले आपको स्वीकार करते हैं और खुले दिल से आपका स्वागत करते हैं।

 


 

अब तक की ज़िंदगी की तारीफ़ करें

हर किसी से और हर जीती जागती चीज़ जो आपके आस पास मौजूद है उससे विनम्र रहें। हो सकता है कि आप एक बुरी स्थिति से गुज़र रहे हों, लेकिन ठहरिए, कोई और भी ऐसा हो सकता है जो आप से भी ज़्यादा बुरे वक़्त से गुज़र रहा होगा।अपने सारे बुरे समय के लिए आभार व्यक्त करें, क्योंकि ये ऐसे वक़्त होते हैं, ऐसे दाग़ होते हैं जो आपको मज़बूत बनाते हैं और आपको जीवन के इस बिंदु पर मज़बूती से खड़ा होना सिखाते हैं।
 
इसलिए जो भी गलतियाँ और भूल आपने अपने जीवन में की हैं उनके लिए आपको धन्यवाद कहना चाहिए। उस वक़्त तो ये गलतियां प्रतीत होती हैं, लेकिन जब आप पलटकर पीछे देखते हैं, तो मैं यक़ीन से कह सकता हूँ कि ये आपको एक सबक़ की तरह लगता है जिससे कि आपने काफ़ी चीज़ें सीखी होती हैं।
 

 


 

आभार व्यक्त करें कि आपने कभी हार नहीं मानी

आख़िर में, अगर आप सोचते हैं कि आप बेहद कठिनाइयों से गुज़र रहे हैं, वो चीज़ जो मैं कहना चाहता हूँ वो ये है कि हौसला रखिए। आपको लग रहा होगा कि ये काफ़ी मुश्किल है, लेकिन ऐसा नहीं है।आपको ये महसूस हो सकता है कि दुख और मजबूरी से भरपूर ये संसार एक दिन आपको ख़त्म कर देगा, लेकिन ऐसा नहीं होगा और आप जियोगे। जीवन में आने वाले उतार चढ़ाव की प्रसंशा करना सीखें, क्योंकि ये बात सिर्फ़ यही ऐसी चीज़ें होती हैं जो आपको मज़बूती से खड़ा होना सिखाती हैं।
 

 


 

इसलिए, अगर चीज़ें प्लान के मुताबिक़ आपके जीवन में नहीं चल रही होती हैं, तो उस पल की प्रसंशा करें और इस बात पर यक़ीन रखें कि ये गुज़र जाएगा। और जब ऐसा हो जाए, तो सदा इस बात का आभार व्यक्त करना ना भूलें कि आपने ख़ुद पर भरोसा किया और उस बुरे वक़्त का डटकर सामना किया।