Flash Sale! to get a free eCookbook with our top 25 recipes.

करें प्लास्टिकमुक्त यात्रा हर बार – Scoutripper

एक प्रकृति प्रेमी, यात्री और फोटोग्राफर होने के नाते मैं लोगों को प्लास्टिक के नुक़सान के बारे में जागरूक बनाने की कोशिश में लगा हूँ।हमें ख़ुद को प्लास्टिक पर निर्भर होने से रोकना चाहिए क्योंकि प्लास्टिक ना सिर्फ़ हमारी धरती को ही बर्बाद कर रहा है बल्कि महासागरों और पर्वतों को भी भारी नुक़सान पहुँचा रहा है।

मैं फिर से कहूंगा आठ मिलियन मेट्रिक टन!

हमारे पारिस्थितिकीय तंत्र या इकोसिस्टम के लिए प्लास्टिक नुक़सानदेह है और इसका सबसे पहला कारण यह है कि प्लास्टिक को ख़त्म होने में वर्षों का समय लग जाता है।

 


 

जब जानवरों के द्वारा प्लास्टिक का उपभोग किया जाता है

सारी बातें छोड़िए और बात करते हैं जानवरों की, तो हम देख सकते हैं कि प्लास्टिक सबसे ज़्यादा नुक़सान जानवरों को पहुँचा रहा है। इतना जितना कि हम सोच नहीं सकते। मैं निश्चित रूप से कह सकता हूँ कि आपने बहुत से ऐसे लेख पढ़े होंगे जिसमें जानवरों के द्वारा प्लास्टिक को खाने की बात कही गई है। अगर आपने अब तक ऐसा कोई लेख नहीं पढ़ा है तो इस लेख को अवश्य पढ़ें जिसमें कि हम आपको ये बताएंगे कि एक मरी हुई व्हेल मछली के अंदर 115 कप, 25 प्लास्टिक थैलियां, 2 स्लीपर्स, और 4 प्लास्टिक की बोतलें पाई गई थीं।

 

ऐसा कहा जा रहा है कि साल 2050 तक महासागरों में मछलियों से ज़्यादा प्लास्टिक हो जाएगा। जानवर इंसानों की तरह नहीं होते और उनके लिए यह बहुत मुश्किल हो जाता है कि वे कौन सी चीज़ खाने वाली है और कौन सी नहीं इसके बीच फ़र्क कर पाएँ। माइक्रो प्लास्टिक खाने के साथ मिक्स हो जाती है और जब यह पानी में फेंक दी जाती है तो इसे जानवर खाकर ख़त्म कर देते हैं।

 


 

प्लास्टिक प्रोग्राम्स को कहें ना

सरकार और कम्पनियों के द्वारा प्लास्टिक के उत्पादन और उपभोग को कम करने के लिए बहुत से प्रोग्राम चलाए जाते हैं लेकिन ऐसी बहुत सी चीज़ें हैं जिनको अकेले इनके द्वारा ख़त्म किया जाना काफ़ी मुश्किल है। प्लास्टिक को पूरी तरह से ख़त्म करने के लिए पब्लिक को जागरूक होना चाहिए। पब्लिक के द्वारा प्लास्टिक की डिमांड और इसके उपभोग को कम करके प्लास्टिक को ख़त्म किया जा सकता है।

ये हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम अपनी डेली लाइफ़ में प्लास्टिक का कम उपयोग करें और हम से जितना हो सके हमें प्लास्टिक के विषय में उतनी ज़्यादा जागरूकता लोगों में जगानी चाहिए। कोई भी सोच सकता है कि ये तो बहुत मुश्किल काम है लेकिन ये वास्तव में एक बेहद ज़रूरी कार्य है। इस काम को छोटे छोटे चरणों में और जागरुकता के द्वारा किया जा सकता है।


प्लास्टिक मुक्त यात्रा

कुछ चीज़ें हैं जिनको मैं यात्रा के दौरान प्रयोग में लाता हूँ ताकि मैं प्लास्टिक से बनी हुई चीज़ों के उपभोग को कम कर सकूं। ये बेहद छोटे स्टेप्स हैं जिनके द्वारा आप प्लास्टिक को ख़त्म करने में मदद कर सकते हैं। असल में ये चीज़ें आप अपनी डेली लाइफ़ में भी कर सकते हैं तब जबकि आप यात्रा पर नहीं होते।


 

दोबारा उपयोग लायक बोतल को साथ ले जाएं

मुझे लगता है कि यह सबसे ज़्यादा साधारण चीज़ है जिसके द्वारा आप शुरुआत कर सकते हैं।जब आप किसी नई जगह की यात्रा पर जाते हैं और आपको ये नहीं पता होता है कि वास्तव में आपको कितने पानी की आवश्यकता होगी तो आप अनंत मात्रा में वन लीटर वॉटर बॉटल या कैन को ख़रीद कर रख लेते हैं। सोचिए कि आप कितना सारा प्लास्टिक ख़रीद रहे होते हैं। इतना सारा कचरा ख़रीद कर रखने के बजाय आप एक ऐसी बोतल को ख़रीद कर अपने साथ ले जा सकते हैं जिसका आप बार बार कई बार उपयोग कर सकते हैं।

 

पानी को ख़रीदने की बजाय आप जिस होटल में ठहरे हैं वहाँ के स्टाफ़ से यह निवेदन कर सकते हैं कि वे आपके पर्यटन पर निकलने से पहले आपकी बोतल में अपने प्यूरीफायर का पानी भरकर रख दें। आप ये सोच सकते हैं कि ऐसा करके आप कितना ज़्यादा कचरा रखने से बच जाएंगे और इससे भी ज़्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि आप फ़ालतू की बोतलें ख़रीदने के ख़र्चे से भी ख़ुद को बचा पाएंगे।

स्ट्रॉस के प्रयोग से बचें

अगर आप स्ट्रॉस के प्रयोग से बचने के बारे में सोचते हैं तो आपको ये अवश्य महसूस होता होगा कि आपको किसी चीज़ को पीने के लिए स्ट्रॉस की आवश्यकता नहीं है। स्ट्रॉ एक बेहद हानिकारक चीज़ है जिसकी एक बड़ी मात्रा कचरे के रूप में महासागर में पाई गई है।

आप सीधे तरीक़े से बिना स्ट्रॉस के कोई भी पेय पदार्थ पी सकते हैं अथवा बायोडिग्रेडेबल या पुनः प्रयोग में लाई जा सकने वाली स्ट्रॉस का उपयोग कर सकते हैं।

 


 

बाँस की लकड़ी से बने ब्रश का करें इस्तेमाल

एक साल में आप कितने टूथ ब्रश का इस्तेमाल करते हैं? तीन? चार? आपको प्लास्टिक से बने हुए ब्रशों के इस्तेमाल को रोक देना चाहिए जोकि हानिकारक भी होते हैं और उनकी जगह पर बाँस की लकड़ी से बने हुए ब्रशों का इस्तेमाल प्रारंभ करना चाहिए। सबसे रोचक बात तो ये है कि बाँस बहुत तेज़ी से बढ़ने वाले पौधों में से एक माना जाता है।

 


 

एक्स्ट्रा मात्रा में कपड़ों से बने हुए थैलों को अपने साथ ले जाएं

आज जब आप किसी दुकान पर कोई सामान लेते हैं तो दुकानदार आपको शॉपिंग बैग देने के लिए अलग से पैसे लेता है। हालाँकि कई लोगों के लिए शॉपिंग बैग के लिए लिया गया एक्स्ट्रा पैसा मायने नहीं रखता है लेकिन आप स्वयं को इस चीज़ से बचा सकते हैं।अपने साथ कपड़ों से बने हुए थैले ले जाकर आप प्लास्टिक का कचरा फैलाने से बच सकते हैं।

 


 

दोबारा प्रयोग में आने वाले कॉफ़ी कप

लोगों के द्वारा कॉफ़ी और चाय का सेवन प्लास्टिक और पेपर के कपों में, ये ऐसी चीज़ है जो मुझे सबसे ज़्यादा परेशान करती है। ज़रा सोचिए उन असंख्य लोगों के बारे में जो चाय और कॉफी के शौक़ीन हैं और जो चाय और कॉफी के सेवन के कारण कचरे का एक बड़ा ढेर लगा देते हैं। यात्रा के दौरान आप किसी ऐसे कप का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसको आप धोकर पुनः प्रयोग में ला सकते हैं और आपको ये करना भी चाहिए। ये काम ना सिर्फ़ आपको प्लास्टिक के कचरे से ही बचाएगा बल्कि आपको इसका कप का प्रयोग करना भी काफ़ी आसान लगेगा।