Flash Sale! to get a free eCookbook with our top 25 recipes.

विन्यास योग क्या है ? जानिए इसके 10 अद्भुत फायदे।

विन्यास-योग-क्या-है

योग से होने वाले फायदों को आजकल प्रत्येक स्वास्थ सम्बन्धी पत्रिकाओं और आहार विज्ञों के सुझावों में पाया जा सकता है।योग आपके शरीर की मूल शक्ति पर कार्य करता है। यह शरीर को मात्र विभिन्न प्रकार की मुद्राओं में मोड़ना या सिर्फ ध्यान लगाना नहीं है।विन्यास योग के फायदे शरीर के लचीलेपन और मानसिक शांति से कहीं अधिक और महत्वपूर्ण हैं।योग के विभिन्न प्रकार एवं मुद्राएं हमारे शरीर पर विभिन्न प्रकार से प्रभाव डालते हैं।

विन्यास योग , योग का एक ऐसा रूप है जो आपके शरीर को पसीने से इस प्रकार तर कर सकता है की मानो आप अभी सोना बाथ से बहार आये हों। जब आप एक मुद्रा से दूसरी मुद्रा की और बढ़ेंगे तो आप अपने दिल की बढ़ती हुई धड़कन को आराम से महसूस कर पाएंगे।

योग का ये शक्तिशाली अभिरूप हमारे शरीर के तीनो भागों – मन,मस्तिष्क और शरीर को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। विन्यास योग हठ योग का पूरक है।साँसों का प्रवाह और स्वरुप विभिन्न मुद्राओं को प्रदर्शित करने के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं।

Read this article in English: 10 Amazing Benefits Of Vinyasa Yoga

विन्यास योग पूर्णता अनुशासित योग का स्वरुप है और शुरुवाती प्रयासों में यह काफी दुष्कर भी प्रतीत हो सकता है,तो याद रहे की आप अपना ध्यान केंद्रित रखें और मुद्राओं में परिवर्तन के दौरान अपनी साँसों के प्रवाह पर पैनी नज़र रखें। यदि आप इसे थोड़ा तेज़ गति के साथ करते हैं तो यह पावर योग में तब्दील हो सकता है।

विन्यास योग के सर्वांगीण सकारात्मक प्रभाव हमारे शरीर की मांसपेशियों को चुस्त और मन को शांत रखने में सहायक होते हैं। आइये जानते हैं इसके अन्य ज़रूरी फायदों के बारे में:


प्रतिरक्षी तंत्र की मज़बूती का राज़ – विन्यास योग

एक स्वस्थ और प्रसन्न प्रतिरक्षी तंत्र आपके जीवन को किसी भी प्रकार के रोग से न सिर्फ दूर रखता है बल्कि विन्यास योग का प्रभावी प्रयोग आपके मन और मस्तिष्क को सुकून से भर देता है।यह आपके तनावों को काम कर के आपके प्रतिरक्षी तंत्र पर बढ़ रहे दबाव को काम करने में सहायक होता है।हमारे शरीर से विषैले पदार्थों को निकालने में विन्यास योग हमारे लसीका तंत्र की सहायता भी करता है। यह हमारे शरीर द्वारा संहित किये जाने वाले तत्वों के प्रति हमें सचेत भी करता है।


शरीर में शक्ति का उत्सर्जन – विन्यास योग

विन्यास योग आपके शरीर की शक्ति को बढ़ने में एक प्रभावी योगदान दे सकता है। यह आपकी मूल शक्ति को नियोजित करता है। शरीर में चुस्त मांसपेशिओं के विकास के लिए विन्यास योग सर्वोत्तम साबित हो सकता है।
यह शरीर में संतुलन लाता है और विभिन्न मुद्राओं में कमर को झुकाने, मोड़ने और हथेलियों के संतुलन करने के कारण एक उत्तम प्रतिरोधक व्यायाम के तौर पर भी आज़माया जा सकता है। विन्यास योग में शरीर की प्रत्येक मांसपेशी की सहभागिता पर पूर्णतः ध्यान केंद्रित किया जाता है।


शरीर के लचीलेपन में सुधार – विन्यास योग

आलस्य भरी जीवन शैली और दैनिक क्रियाकलापों में व्यायाम की कमी हमारे शरीर की मांसपेशियों को स्थूल बना देती हैं और हमारा शरीर उसका प्राकृतिक लचीलापन खो देता है।विन्यास योग यह सुनिश्चित करता है की हमरारी हड्डियां और मांसपेशियां उसी प्रकार से काम करें जिस प्रकार से कार्य के लिए उन्हें बनाया गया है। इस योग का निरंतर संचार हमारी मांसपेशियों को खींचता और मज़बूत बनता है और शरीर के लचीलेपन को बढ़ने में सहायक होता है।

विन्यास योग हमारी साँसों को प्रत्येक मुद्रा के समन्वय में लाकर ताज़ी ऑक्सीजन को हमारी मांसपेशियों में जाने देता है। मांसपेशियों के मुड़ने और खींचने पर जोड़ों और अस्थि बंधनों पर से दबाव काम होता है और यह सुनिश्चित करता है की मांशपेशियों में किसी भी प्रकार का खिंचाव आने से वह चोटिल न हो।


शांतिपूर्ण नींद – विन्यास योग

यदि आप भी अनियमित नींदो और सोने में होने वाली परेशानियों का निवारण ढूंढ रहे हैं तो विन्यास योग आपके लिए वरदान साबित हो सकता है। दवाइयों को अपनी आदत बनाने से बेहतर है की आप योग की सहायता से अपने शरीर को काम पर लगाएं, पसीना बहाएं और मांसपेशियों को खींचने दे, इस से न  केवल आपका शरीर बेहतर महसूस करेगा बल्कि आका मस्तिष्क भी एक बेहतर स्थिति में होगा। विन्यास योग के प्रयोग के बाद आप एक शांतपूर्ण और संतोष भरी नींद ले सकते हैं।


तनाव को जाएं भूल – विन्यास योग

विन्यास योग को प्रायः ‘क्रियात्मक ध्यान’ के रूप में भी जाना जाता है। योग का यह रूप हमारे मन;मस्तिष्क और शरीर को एक संन्तुलित रूप से साधता है। जब आप अपनी साँसों पर ध्यान केंद्रित करते हैं तो यह आपकी एकाग्रता को बढ़ता है और मन से नकारात्मक और अनियमित विचारो को बाहर निकलता है।यह हमारे तत्रिका तंत्र को तनाव से आराम देता है। बाहरी प्रोत्साहन से मन अंदरूनी प्रोत्साहन की और अग्रसर होता है और यह अनुभव हमें शांति प्रदान करता है।

Also Read: पहाड़ों का सफ़र एक ऐसी चीज़ जिसकी आपको ज़रूरत है


दिल को रखे दुरुस्त

विन्यास योग आपके मन,मस्तिष्क और शरीर को क्रियाशील करता है।जब आप उच्च रक्तचाप की और ध्यान देंगे तो पाएंगे की इसकी वजह से ह्रदय गति रुकने की समस्या आम हो चली है।विन्यास योग आपके तनाव को काम करके रक्तचाप को भी का करता है। यह आपके मस्तिष्क को अपने आस पास की चीज़ों के प्रति जागरूक करके आपके खाने पीने सम्बन्धी समस्याओं से भी निदान दिलाता है। विन्यास योग शरीर को संतुलन और सांशो पर ध्यान करना सिखाता है जो की एक कार्डिओ व्यायाम से बराबर ही है।

आप अपने शरीर को गुरुत्वाकर्षण बल के विपरीत कार्यरत करते हैं जिस से कि आपके शरीर की अतिरिक्त कैलोरी की खपत होती है और केलोस्ट्रोल के स्टार में भी कमी आती है। यह सुनिश्चित करता है की आपका हृदय खुश और स्वस्थ रहे। साँसों पर ध्यान आपकी एकाग्रता को बढ़ता है और तंत्रिका तंत्र को तनाव मुक्त रखता है।


करे शारीरिक मुद्राओं में सुधार

एक गतिहीन जीवन शैली हमारे शरीर की मुद्राओं की स्थिति को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है। हमारे कार्य आलस्य और सुस्ती से परिपूर्ण होते हैं।हमारी ख़राब मुद्राएं हमारे दिन भर की ऊर्जा को भारी नुक्सान पहुंचाती हैं। शारीरिक मुद्राओं को व्यवस्थित और बेहतर करने का विन्यास योग से बेहतर कोई विकल्प नहीं है।यह हमें हमारे शरीर और मन को संतुलित करना सिखाता है। विन्यास योग की पहली मुद्रा हमारे सर से पैर तक शरीर को साधने में सहायता करती है।यह सही साधन हमें एक अलग प्रकार की ऊर्जा से भर देता है।


एकाग्रता और ध्यान का समन्वय

हमारे दिन भर के व्यस्त कार्यक्रम के कारण हम अपने कारों में पूर्णतः ध्यान नहीं केंद्रित कर पाते हैं।हम अपनी जीवन शैली में ऐसे व्यायामों को जगह देते हैं जो सिर्फ हमारे शरीर पर काम करते हैं।यदि मन और मस्तिष्क दोनों समन्वय से कार्य नहीं करेंगे तो हमारे जीवन शैली को सुधारने के सभी प्रयास प्रायः विफल ही होंगे।विन्यास योग हमारे मन और मस्तिष्क को सांसों पर ध्यान केंद्रित कर साधने का प्रभावी प्रयास करता है।

हमारे मस्तिष्क को ध्यान केंद्रित करने के लिए किसी एक चीज़ की आवश्यकता होती है,और साँसे यही कार्य कर किसी भी प्रकार के विकर्षण को अप्रभावी बनती हैं और आपकी एकाग्रता को बढाकर आपके लक्ष्य प्राप्ति में पूर्ण सहयोग प्रदान करती हैं।


आपके फेफड़ों के लिए वरदान

वो लोग जो सांसों की कमी और श्वसन सम्बन्धी समस्याओं से पीड़ित रहते हैं उनके लिए विन्यास योग एक वरदान साबित हो सकता है और उनके फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने में मदद कर सकता है।यह अस्थमा और अन्य श्वसन सम्बन्धी परेशानियों से लड़ने में सहायक होता है।विन्यास योग के अभ्यास के दौरान एक व्यक्ति छोटी साँसों से लेकर अपनी फेफड़ों की उच्तम क्षमता तक कार्य करता है। सांस लेने और छोड़ने की क्रिया पर आपकी एकाग्रता यह सुनिश्चित करती है की आपके फेफड़ों का प्रत्येक भाग इस क्रिया में संचालित हो।

Also Read: क्या आपको पता है पर्यावरण के करीब जाने के 5 फायदे ।


जीवन शैली में बेहतर विकल्पों का चुनाव

हमारी जीवन शैली कई बार हमें हमारे दैनिक कार्यों को अनदेखा करने पर विवश करती है जिसका सीधा दुष्प्रभाव हमारे स्वास्थ पर होता है।हम स्वयं को सुवधाओं का आदि बना लेते हैं और सुस्ती का शिकार हो जाते है।

हमारे शरीर का ध्यान ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है और विन्यास योग हमारे जीवनशैली से सम्बन्धी चुनावों में बदलाव कर हमें एक बेहतर स्वास्थ की ओर अग्रसर करता है। विन्यास योग हमारे शरीर द्वारा उपभोगित किये जाने वाली चीजों के बारे में हमें सचेत करता है और हमारी अस्वस्थ आदतों के बारे में हमें जानकारी भी प्रदान करता है। विन्यास योग के फल स्वरुप हम एक बेहतर निद्रा, भोजन ओर जीवन को प्राप्त कर सकते हैं।

विन्यास योग आपको मन से ख़ुशी प्रदान करता है और आपके मस्तिष्क को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।इसका अभ्यास हमारे मन ओर मस्तिष्क को नकारात्मक चीज़ों से दूर ले जाता है और अंदरूनी ख़ुशी ओर संतुष्टि प्रदान करता है। यह आपको आपके शरीर के प्रति सचेत तो करता है ही है अपितु उसे बेहतर करने पर भी कार्य करता है।

तो देर किस बात की, हो जाइये तैयार और विन्यास योग के नियमित अभ्यास से अपने शरीर को एक बेहतर स्वास्थ और खुशहाल जीवन शैली का तोहफा दें।